प्रदूषण संकेतक पौधा माना जाता है? – पर्यावरण अध्ययन

  • वन्यजीव सुरक्षा कानून पारित किया गया – 1972में (UPPCS Pre – 2015)
  • ओजोन छिद्र का सबसे बड़ा क्षेत्र पाया गया है – अंटार्कटिका महाद्धीप के ऊपरी क्षेत्र में (MPPCS Pre – 2008)
  • रेड डाटा बुक – पर्यावरणीय पुस्तके जिसके गुलाबी पृष्ठो पर संकटापन्न जीवों को व हरे पृष्ठों पर जैव सम्पन्नता दिखाई जाती है।
  • देश का पहला वन्य जीव कारिडोर म.प्र राज्य में स्थापित किया जाएगा। इसका उद्देश्य लोगो को वन्य जीवों के निकट लाना है।
  • प्रदूषण संकेतक पौधा माना जाता है – लाइकेन्स।
  • जैविविधता (Bio-Diversity) का भंडार उष्ण कटिबंधीय वर्षा वन वाले क्षेत्र है।
  • राष्ट्रीय पर्यावरण अभियांत्रिकी शोध संस्थान (NEER) नागपुर में स्थिति
  • रेडियोधर्मी प्रदूषण धर्म रोग एवं कैंसर के लिए उत्तरदायी है।
  • अंटार्कटिका में भारत के तीसरे शोध केन्द्र का नाम भारती है जबकि पहले शोध केन्द्र का नाम दक्षिण गंगोत्री है।
  • जैव विविधता में कमी का कारण है – प्राकृतिक आवास का विनाश।
  • मच्छरों के प्रजनन की रोकथाम हेतु ठहरे पानी में तेल इसलिए डाल दिया जाता है क्योकि तेल ऑक्सीजन की आपूर्ति को रोककर प्रजनन को रोक दिया जाता है।
  • अमृता देवी विश्वोई वन्यजीव संरक्षण अवार्ड भारत सरकार द्वारा पर्यावरण संरक्षण हेतु दिया जाता है। अमृता देवी मूलता चिपको आंदोलन (1731 में जोधपुर में वन काटने के विरूद्ध वृक्ष से चिपकने से मृत्यु) की जन्मदाता है किन्तु चिपको आंदोलन सुुंदरलाल बहुगुणा के प्रयासों से (1970 में उत्तराखंड के गढवाल में वृक्षो को काटे जाने के विरूद्ध) लोकप्रिय हुआ। दक्षिण भारत (कर्नाटक) में इसी प्रकार के आंदोलन को एप्पीकों आंदोलन कहते है।
  • वैश्विक कार्बन उत्सर्जन में (हेल्थकेयर रिपोर्ट 2019) स्वास्थ्य क्षेत्र से निकलने वाले अपशिष्ट का योगदान बढ़कर 4.4% हो गया है।
  • मृदा प्रदूषण को बढ़ाने में औद्दोगिक अपशिष्ट, घरेलू, अपशिष्ट रासायनिक उर्वरक एवं अम्ल वर्षा जिम्मेदार है।
  • राष्ट्रीय समुद्री जैवविविधता केन्द्र की स्थापना जामनगर (गुजरात) में की गई है। यही पर भारत का पहला मरीन नेशनल पार्क भी है।

सभी सरकारी नौकरी की तैयारी करे वो भी घर बैठे सिर्फ QuestionExam फेसबुक पेज Like करके।
Tags : देश का पहला, पर्यावरण अध्ययन, प्रदूषण, मच्छरों के प्रजनन, मृदा प्रदूषण, राष्ट्रीय पर्यावरण, सबसे बड़ा क्षेत्र
Always Ask Questions
Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *