पाँचवा अंतराष्ट्रीय योग दिवस संपन्न कब हुआ | मालदीव यात्रा | आम चुनाव 2019

पाँचवा अंतराष्ट्रीय योग दिवस संपन्न कब हुआ | मालदीव यात्रा | आम चुनाव 2019

 

21 जून 2019 को पाॅंचवा अंतराष्ट्रीय योग दिवस संपन्न हुआ। भारत के साथ-2 पूरी दुनिया भी योग के रंग गई। इस वैश्विक आयोजन का केन्द्र था झराखण्ड की राजधानी रांची का तारा मैदान जहां प्रधानमंत्री मोदी ने योग किया। योग जाति, धर्म, अमीर, गरीब, कमजोर, सशक्त हर दायरे से ऊपर है। सबसे ऊॅंचे और ठंडे युद्दक्षेत्र सियाचिन से लेकर अरुणाचल प्रदेश में चीन की सीमा तक सेना के विभिन्न अंगो के साथ तमान अर्धसैनिक बलों के जवान योगाभ्यास में जुटे।

पहाड़ की ऊँचाइयों पर सैनिको ने योग किया तो समुद्र के जल में तैरते पोत में भी। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की सरकार ने भी पहली बार योग का महत्व स्वीकार किया। श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरिसेन भी योग से जुड़े। उन्होने योग को भारत – श्रीलंका की साझी विरारत के तौर पर पेश किया। वही चीन की सेना के जवानों ने लाइन आँफ एक्चुअल कंट्रोल पर भारतीय जवानों के साथ योगासन किया। अमेरिका ब्रिटेन देशों में भी अलग-अलग कार्यक्रमों में योगभ्यास किया गया।

प्रधानमंत्री मोदी की मालदीव यात्रा

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 8 जून 2019 को मालदीप की यात्री की। आंतकवाद पर सख्त रूख दिखाते हुए मोदी ने पड़ोसी मुल्क को घेरा। यात्रा के दौरान भारत-मालदीव के बीच छह समझौतो पर हस्ताक्षर हुए। साथ ही मालदीव में प्रधानमंत्री मोदी को विदेशियों को दिए जाने वाले सर्वोच्चय सम्मान “रूल आँफ निशान इज्जुदीन ” मोदी ने मालदीव ने मालदीव के संसद को संबोधित किया। मालदीव में ऐतिहासिक मस्जिद के संरक्षण में भारत मालदीव की मदद करेगा।

प्रधानमंत्री मोदी औऱ राष्ट्रपति सोलिह ने संयुक्त रूप से तटीय निगरानी रडार प्रणाली और मालदीव के सुरक्षा बलों के लिए एक समय प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन भी किया
आम चुनाव 2019

राष्ट्रपति भवन में 30 मई 2019 को आयोजित एक समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द द्वारा नरेन्द्र दामोदरदास मोदी को भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई। इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी की लगातार दूसरी पारी की शुरूआत हो गई।

17वीं लोकसभा के लिए हुए आम चुनाव के परिणाम 23 मई, 2019 को घोषित हुए थे, जिसमें वर्तमान केे सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी (BJP) की नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनान्त्रिक गठबन्धन (NDA) को भारी बहुमत मिला। NDA को इस चुनाव में कुल 542 में 352 सीटें प्राप्त हुई।

इसके तहत लोकसभा की कुल 543 सीटों के साथ आन्ध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा तथा सिक्किम के विभानसभा चुनाव भी सम्पन्न हुए, जिनका चुनाव लोकसबा के चुनाव की तिथि के दिन नही हुआ। इस लोकसभा आम चुनाव के परिणाम 23 मई, 2019 को घोषित हुआ।

मुख्य विपक्षी दल भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त प्रगतिशील गठबन्धन को कुल 85 सीटें प्राप्त हुई जिसमें अकेले केवल काँग्रेस को 52 सीटें ही मिली और अन्य को 105 सीटें प्राप्त हुई

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में NDA को 336 तथा UPA को 59 तथा अन्य को 148 सीटें प्राप्त हुई थी। इसमें अकेले केवल भाजपा को 282 तथा काँग्रेस को 44 सीटें प्राप्त हुई थी

चुनाव में पहली बार EVM के साथ VVPAT का प्रयागो किया गया।

17वीं लोकसभा आम चुनाव में कुल 90 करोड़ मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में पाया गया जिन्हें मत का अधिकार प्राप्त था।

वर्ष 2019 के आम चुनाव के लिए 71735 विदेशी मतदाताओं को मतदाता सूची में शामिल किया गया.
निर्वाचन आयोग ने विकलांग लोगो के लिए मतदाता पहचान औऱ पंजीकरण प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए PWD App की सुविधा प्रदान की।

Quiz Matched Content(quiz_matched_content)
सभी सरकारी नौकरी की तैयारी घर बैठे करें सिर्फ QuestionExam फेसबुक पेज Like करके।